Home Jammu Kashmir Jammu Jammu: आपकी बिजली काट दी जाएगी, ठगी का नया पैंतरा, ऐसे मैसेज...

Jammu: आपकी बिजली काट दी जाएगी, ठगी का नया पैंतरा, ऐसे मैसेज से रहें सजग

138
SHARE

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रिय उपभोक्ता, बिजली कार्यालय से आज रात साढे़ नौ बजे आपकी बिजली काट दी जाएगी। क्योंकि, आपका पिछले महीने का बिल अपडेट नहीं हुआ है। कृपया तुरंत बिजली कार्यालय से 6392832038 पर संपर्क करें। धन्यवाद!’ इस तरह का संदेश रविवार को उधमपुर के चिनैनी कस्बे में कई लोगों को व्हाट्सएप पर मिला। इस नंबर के व्हाट्सएप अकाउंट की प्रोफाइल पर जेकेपीडीसी का लोगो भी लगा था। रविवार सुबह से दोपहर तक कई लोगों को इस तरह के संदेश भेजकर बिजली बिल जमा करने को कहा गया। इसके साथ ही ऐसा न करने पर बिजली काटने की चेतावनी दी गई। इस संदेश से कुछ लोग थोड़ी देर के लिए हैरान रह गए। कुछ लोगों ने संबंधित नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन डायल करते ही फोन काट दिया गया। तब कई लोगों ने बिजली विभाग कर्मियों व अधिकारियों से संपर्क किया। उनसे जानकारी मिली कि विभाग इस तरह का कोई संदेश नहीं भेज रहा है। इनसे बचें और ध्यान न दें।

गूगल प्ले स्टोर से एप्लीकेशन डाउनलोड करवाकर बना रहे निशाना

जानकारी के अनुसार लोगों को जिस नंबर से संदेश प्राप्त हुआ, पहले उस नंबर पर फोन किया गया। तब वह फोन किसी ने उठाया नहीं। बाद में उसी नंबर से वापस कॉल आया और बताया कि वह विद्युत विभाग के मुख्य कार्यालय जम्मू से बोल रहा है। फिर उसने गूगल प्ले स्टोर से एक एप्लीकेशन इलेक्ट्रिसिटी अपडेट क्विक सपोर्ट अपने फोन में इंस्टॉल करने का निर्देश दिया। फिर वह आगे की प्रक्रिया बताने लगा। हालांकि, लोग सचेत थे, इसलिए किसी ने उसके निर्देशों का पालन नहीं किया। बताया जा रहा है कि वह अपना एप्लीकेशन लोगों के मोबाइल में इंस्टॉल करवाकर मोबाइल को हैक कर लेता है। इससे ठग को मोबाइल में मौजूद सारी निजी जानकारी और बैंकों की जानकारी भी प्राप्त हो जाती है। इससे वह लोगों के खाते खाली कर देता है।

लोगों की मांग, इस तरह की ठगी पर प्रशासन दे ध्यान

इसके साथ ही चिनैनी नगरपालिका अध्यक्ष मानिक गुप्ता और कस्बे के निवासी साहिल कुमार, अतुल, रोहित गुप्ता, आदि ने कहा कि इस तरह के संदेश से कई बार लोग परेशान हो जाते हैं, और बिना सोचे समझे तुरंत ठगों की चाल में फंसकर उनके निर्देशों का पालन करने लगते हैं। इससे वे ठगी का शिकार होते हैं। ऐसे में प्रशासन को इसको लेकर ध्यान देने की जरूरत है। उन लोगों को पकड़ने की जरूरत है जो इस तरह के संदेश भेजकर लोगों को ठग लेते हैं।