Home Jammu Kashmir Jammu Jammu Kashmir: पेट्रोल-डीजल व एलपीजी के बढ़ते दाम ने तोड़े सभी रिकार्ड,...

Jammu Kashmir: पेट्रोल-डीजल व एलपीजी के बढ़ते दाम ने तोड़े सभी रिकार्ड, लोगों में रोष

672
SHARE

देश के अन्य हिस्सों की तरह जम्मू में भी पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार वृद्धि का सिलसिला जारी है। इस बीच पिछले दो महीने में रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 200 रुपये से अधिक की वृद्धि ने आग में घी डालने का काम किया है। जो रसोई गैस सिलेंडर दिसंबर 2020 में 645 रुपये में था, उसकी कीमत मंगलवार को जम्मू में 820 रुपये हो गई।

पिछले दो महीनों में रसोई गैस सिलेंडर के दाम में यह तीसरी वृद्धि है। इससे पहले जनवरी में 100 रुपये प्रति सिलेंडर, उसके बाद 25 रुपये और अब 50 रुपये की वृद्धि हुई है। रसोई गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी सरकार करीब छह माह पूर्व पहले ही लगभग समाप्त कर चुकी है और उसके बाद दाम में वृद्धि से हर कोइ्र आहत है।
पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और मंगलवार को जम्मू में पेट्रोल का दाम 88.92 रुपये प्रति लीटर और डीजल का दाम 80.05 रुपये प्रति लीटर रहा जो अब तक का सबसे अधिक दाम है। पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ते दाम से आम लोगों में गुस्सा है क्योंकि डीजल के दाम में वृद्धि से खाद्य आर्पूति महंगी हो रही है। ट्रांसपोर्ट खर्च बढ़ने से इसका सीधा असर खाद्य वस्तुओं के दामों पर पड़ रहा है। पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि के चलते ट्रांसपोर्टर यात्री किराया बढ़ाने का दबाव बना रहे है और अगर यहीं आलम रहे तो आने वाले दिनों में स्थानीय स्तर पर यात्री किरायों में भी वृद्धि तय है।
अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियल पदार्थाें की कीमत पिछले कुछ सालों की तुलना में काफी कम है। ऐसे में पेट्रोल-डीजल सस्ता हाेना चाहिए लेकिन यहां पर तो हर रोज दाम बढ़ रहे हैं। समझ नहीं आ रहा कि ऐसा क्यों हो रहा है? इससे महंगाई लगातार बढ़ रही है लेकिन सरकार का इस ओर कोई ध्यान ही नहीं है। आम लोग महंगाई की आग में जल रहे हैं लेकिन उन्हें किसी तरह की कोई राहत नहीं दी जा रही। -संजय गुप्ता-व्यापारी
सरकार पेट्रोल पर 19.48 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लेती है और 27.69 फीसद वैट। इसी तरह डीजल में 15.33 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी और 17.12 फीसद वैट लिया जाता है। इसमें कटौती करके सरकार जनता को राहत दे सकती है लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा। आम लोगों को महंगाई की आग में झोंका जा रहा है और तेल कंपनियों की जेबें भरी जा रही है। -सुनील डिम्पल, प्रधान जम्मू वेस्ट असेंबली मूवमेंट
सरकार ने रसोई गैस सिलेंडर के दाम में बेतहाशा वृद्धि करके आम आदमी की कमर तोड़ने का काम किया है। पहले सिलेंडर के दाम दस रुपये बढ़ते थे तो भाजपा सड़क पर नारेबाजी करती थी लेकिन आज भाजपा के राज में हर दिन महंगाई बढ़ रही है। इस सरकार ने देश से गरीबी नहीं, बल्कि गरीबों को हटाने का मन बना लिया है। पहले 600 का सिलेंडर होता था और सब्सिडी मिलती थी। अब 820 का सिलेंडर और सब्सिडी भी नहीं। – ज्योति गुप्ता, गृहिणी
सरकार हर तरफ से लोगों का बजट बिगाड़ रही है। कोविड-19 के कारण पहले से ही आमदनी कम है। घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया है। इस पर सरकार की तरफ से पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस सिलेंडर के दाम लगातार बढ़ाए जा रहे हैं। ये ऐसी चीजें है जिनके दाम बढ़ने से हर परिवार पर असर पड़ता है लेकिन मोदी सरकार है कि इस बढ़ती महंगाई पर रोक लगाने के लिए कोई कदम ही नहीं उठा रही। – शिवानी गुप्ता, गृहिणी