Home Jammu Kashmir Jammu Jammu: इस तरह से लोगों को नंबर प्लेट लगवाना पड़ रहा महंगा,...

Jammu: इस तरह से लोगों को नंबर प्लेट लगवाना पड़ रहा महंगा, ट्रैफिक पुलिस काटने लगी चालान

1859
SHARE

अब उन लोगों की जेब कटने लगी है जो अपनी गाड़ियों पर कार असेसरीज की दुकानों से नंबर प्लेटें लगवा रहे हैं। ट्रैफिक पुलिस ने अब उन गाड़ियों काे रोक चालान काटने शुरू कर दिए हैं और लोगों से सिर्फ आरटीओ कार्यालय में लगाई जाने वाली हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेटें लगवाने की अपील भी की है।
जम्मू-कश्मीर में भी सभी गाड़ियों को हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेटें लगवाने के निर्देश करीब तीन वर्ष पहले जारी किए गए थे। शुरूआत में सिर्फ नई पंजीकृत गाड़ियों को ही नंबर प्लेटें लगवाई जा रही थी लेकिन वर्ष 2019 में पुरानी गाड़ियों को भी नंबर प्लेटें बदलवाने के निर्देश दिए गए थे। अगर किसी गाड़ी को बिना हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के साथ पकड़ा जाता है तो चालक को पांच से दस हजार रुपये जुर्माना हो सकता है जो काफी ज्यादा भी है।
ट्रैफिक पुलिस ने अब बिना हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगी गाड़ियों पर नजर रखना शुरू कर दी है। ऐसी गाड़ियों को विशेष रूप से रोक कर चालान काटे जा रहे हैं। एसएसी ट्रैफिक कौशल कुमार शर्मा का कहना है कि वाहन चालकों को मोटर व्हीकल अधिनियम का सम्मान करना चाहिए। सड़क पर गाड़ियों को लाने से पहले सभी औपचारिकताओं को पूरा किया जाए ताकि उन्हें कोई परेशानी न हो।

कैसी होती है हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट:

हाई सिक्याेरिटी नंबर प्लेट एलुमेनियम की बनी होती है जिसे गाड़ी पर लगाया जाता है। इस पर 20 मिमी का एक हाॅलोग्राम बना होता है जिस पर नीले रंग अशोक चक्र होता है जो प्लेट की बाईं तरफ होता है। इसके अलावा प्लेट पर दस अंकों का पिन नंबर यानि परमानेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर भी प्लेट पर लिखा होता है जो प्लेट को यूनिक यानि दूसरी प्लेट से अलग बनाता है। इस प्लेट पर इंडिया भी लिखा होता है। इस प्लेट में गाड़ी की जानकारी भी इलेक्ट्रानिकली रहती है। इस समय बाजार में इस प्लेट की तरह दिखने वाली डुप्लीकेट प्लेटें तो लग रही हैं लेकिन उस पर अशोकर चक्र या पिन नंबर नहीं मिलेगा जो दूर से पहचानी जा सकती है। ट्रैफिक पुलिसकर्मी वैसी ही गाड़ियों को रोक कर चालान काट रही है।