Home Jammu Kashmir Jammu Coronavirus Guidelines In J&K : जम्मू—कश्मीर में यह लोग होंगे घरों में...

Coronavirus Guidelines In J&K : जम्मू—कश्मीर में यह लोग होंगे घरों में क्वारंटाइन

854
SHARE

सरकार ने जिन देशों को ओमिक्रोन संक्रमण के बाद रिस्क वाला देश घोषित किया है, वहां से आने वाले यात्रियों को ही अब घरों में सात दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा। अन्य देशों से आने वालों को टेस्ट नेगेटिव आने के बाद घरों में दो सप्ताह के लिए स्वयं की निगरानी करने को कहा गया है। विदेशों से आने वाले नागरिकों के लिए यह नए दिशा निर्देश शुक्रवार को आपदा प्रबंधन, राहत, पुनर्वास और पुनर्निर्माण विभाग जम्मू-कश्मीर ने जारी किए।
इन निर्देशों के तहत श्रीनगर एयरपोर्ट पर आरटीपीसीआर टेस्ट किए जाएंगे। जम्मू में कोई भी अंतरराष्ट्रीय उड़ान सीधी न आने के कारण अब यहां पर किसी भी व्यक्ति को क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा। सिर्फ श्रीनगर अंतराष्ट्रीय हवाई अड़्डे पर ही क्वारंटाइन किया जाएगा। इसके लिए पहले से ही सरकारी और निजी होटलों में क्वारंटाइन केंद्र बनाए गए हैं।
अगर रिस्क वाले देशों से आने वाला कोई भी यात्री टेस्ट के बाद संक्रमित पाया जाता है तो उसे डीआरडीओ के अस्पताल में भेजा जाएगा। लेकिन अगर नेगेटिव आता है तो उसे सात दिनों के लिए घर में ही क्वारंटाइन करके आठवें दिन फिर से उसका टेस्ट होगा। अगर उसके बाद भी नेगेटिव आता है तो उसे दो सप्ताह और घर में निगरानी करने के लिए कहा जाएगा।यही नहीं संक्रमितों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों की पहचान कर उनकी भी जांच की जाएगी और टीकाकरण भी किया जाएगा।
नए दिशा निर्देशों के तहत श्रीनगर एयरपोर्ट पर बाहर से आने वाले सभी यात्रियों के आरटीपीसीआर टेस्ट होंगे। अगर इनके टेस्ट पाजिटिव आते हैं तो उन्हें जिनोम अनुक्रमण के लिए पहले से मान्यता प्राप्त लैब में भेजा जाएगा। इसके बाद संक्रमित के संपर्क में आने वालों की नियमों के तहत पहचान की जाएगी। अगर नए वैरिएंट का पता चलता है तो उसके बाद जरूरी कदम उठाए जाएंगे।
पहले जम्मू और श्रीनगर दोनों ही एयरपोर्ट पर विदेशों से आने वालों के टेस्ट की रिपोर्ट आने तक उन्हें क्वारंटाइन करने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन एक दिन पहले जम्मू एयरपोर्ट पर अमेरिका से आए यात्रियों ने काफी विरोध जताया था।
उनका कहना था कि दिल्ली एयरपोर्ट पर उन्होंने पहले से ही टेस्ट करवाए हैं। यह लोग टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार किए बगैर ही माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए चले गए थे। इस पर स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने भी आपत्ति जताई थी। अब सरकार ने जम्मू एयरपोर्ट पर किसी को भी क्वारंटाइन न करने का फैसला किया है।