Home Uncategorized 15 हजार Salary है तो जान लीजिए आपके PF खाते को लेकर...

15 हजार Salary है तो जान लीजिए आपके PF खाते को लेकर क्‍या है नया अपडेट

1168
SHARE

अगर आप की पगार 15 हजार रुपए से ज्‍यादा है और PF कटता है तो इस पर EPFO आपके लिए कुछ अपडेट लाया है। इनमें PF खाते पर मिलने वाले जीवन बीमा से लेकर Aadhaar-UAN लिंकिंग तक शामिल है। मसलन इंप्लाई डिपॉजिट लिंक इंश्योरेंस स्कीम 1976 के तहत बीमा कवरेज को 6 लाख से बढ़ाकर 7 लाख रुपए किया गया है। हालांकि यह बढ़ोतरी अप्रैल में ही हो चुकी है लेकिन इसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। इस बढ़ोतरी के बाद खाते में Nominee का अपडेट होना और भी जरूरी हो गया है।
EPFO के द्वारा ट्वीट किए गए एक वीडियो में, क्षेत्रीय पीएफ कमीश्नर कार्तिकेय सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि “EPFO के तहत तीन योजनाओं के द्वारा बीमा सुविधा का लाभ लिया जा सकता है। इनमें से इंप्लाई डिपॉजिट लिंक इंश्योरेंस स्कीम 1976, प्रमुख है। इसके तहत जिन भी इंप्लाई का EPF मेंटेन किया जाता है, वो सभी ऑटोमैटिकली ही इस स्कीम के मेंबर बन जाते हैं। इसके लिए अलग से ना तो मेंबरशिप लेना पड़ता है और ना ही किसी तरह का प्रीमियम देना पड़ता है। नियोक्ता की तरफ से इसमें हर महीने सैलरी का 0.5 फीसद का अनुदान जमा कराया जाता है। इसके अलावा यदि किसी आकस्मिक कारण से इंप्लाई की मृत्यु हो जाती है तो PF की राशि के साथ बीमा की राशि भी नॉमिनी को उपलब्ध कराई जाती है”।
“इसके तहत मिलने वाली बीमा राशि में EPFO के द्वारा अप्रैल में बढ़ोतरी की गई थी। यह राशि पहले 6 लाख रुपये की थी, जिसे बढ़ा कर 7 लाख का कर दिया गया है। इसके अलावा इसमें मिनिमन अश्योरेंस बेनिफिट के तौर पर 2.5 लाख रुपये का लाभ मिलता था, जिनका यह बेनिफिट लैप्स कर गया था उनको यह उपलब्ध कराया जाएगा। कोरोना संक्रमण के चलते इसे उपलब्ध कराने का फैसला किया गया था। इसके अलावा EPFO के तहत ई-नॉमिनेशन की सुविधा को शुरु करने की कोशिशें की जा रहीं हैं। जिसके तहत अब घर बैठे ही अपना नॉमिनेशन फाइल कर सकते हैं।
आधार लिंकिंग पर बताते हुए सिंह ने कहा कि, “काफी लंबे समय से UAN और आधार को लिंक करने के बारे में सोचा जा रहा है, जिसके बाद अब कोई भी इंप्लाई सीधे EPFO से जुड़ जाएगा, और इससे कई प्रकार की सुविधाएं भी हासिल होंगी। 1 सितंबर तक अगर आधार लिंक नहीं कराया गया तो इंप्लॉयर खाते में पैसा नहीं जमा कर पाएगा”।
इसके अलावा वैल्यू रिसर्च के सीईओ धीरेंद्र कुमार ने कहा कि, “यह काफी अच्छी शुरुआत है, लेकिन यह काफी नई है और यह पहले के प्रावधानों से काफी बेहतर है। यह उन कम आय वर्ग लोगों के लिए काफी सहयोगी है जो कि अलग से इंश्योरेंस नहीं खरीद पाते हैं। साथ ही EPFO को यह सुविधा देनी चाहिए की लोग खुद से इसमें प्रीमियम जमा कर सकें”।