Home National सेना के लिए पीएम मोदी का बड़ा एलान, देश को मिलेगा चीफ...

सेना के लिए पीएम मोदी का बड़ा एलान, देश को मिलेगा चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, यहां जानिए सबकुछ

329
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए एलान किया कि तीनों सेनाओं में बेहतर तालमेल के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की नियुक्ति की जाएगी। जानिए इसके बारे में सबकुछ…
1999 में कारगिल युद्ध के बाद चीफ ऑफ डिफेंस के पद की मांग उठी थी। जिसके बाद तब तत्कालीन डिप्टी पीएम लाल कृष्ण आडवाणी की अध्यक्षता में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने भी चीफ ऑफ डिफेंस के पद का सिफारिश की थी। उस समय एयर फोर्स के विरोध बाद वाजपेयी सरकार ने इसे खंडे बस्ते में डाल दिया था। दरअसल कारगिल युद्ध में तीनों सेनाओं के बीच समन्वय की कमी की वजह से काफी नुकसान हुआ था।

अगर तीनों सेनाओं के बीच ठीक तालमेल होता तो नुकसान को कम किया जा सकता था। जिसका ऐलान 20 साल बाद अब नरेंद्र मोदी ने किया है। तीनों सेनाओं में समन्वय के लिए चीफ ऑफ डिफेंस का पद बनाया गया है। इसके चेयरमैन को कोई खास शक्ति नही होती, उनका काम तीनों सेनाओं समन्वय स्थापित करने का होता है। अभी चीफ मार्शल बीएस धनोआ चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के चेयरमैन है।

चीफ ऑफ डिफेंस पद बन जाने के बाद युद्ध के समय तीनों सेनाओं के बीच समन्वय स्थापित हो पायेगा। युद्ध के समय सिंगल प्वॉइंट आदेश जारी किया जा सकेगा, जिसका मतलब तीनों सेनओं को एक ही जगह से आदेश जारी होगा। जिससे सेना की रणनीति पहले से अधिक प्रभावशाली हो जाएगी, और कोई कन्फयूजन की कोई स्थिती नहीं होगी। इससे काफी हद तक हम अपना नुकसान होने से बचा पाएंगे।

अभी अमेरिका,चीन, यूनाइटेड किंगडम जापान के साथ-साथ कई और देशों के पास चीफ ऑफ डिफेंस का पद है। राष्ट्र सुरक्षा के सभी मामलों से सीमित संसाधनों से साथ निपटने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस के पद की बहुत जरूरत थी। चीफ स्टाफ कमेटी में थलसेना, नौसेना और वायुसेना के प्रमुख शामिल होते है। कमेटी के सबसे वरिष्ठ सदस्य को इसका चेयरमैन नियुक्त किया जाता है।