Home Jammu Kashmir श्रीनगर में आज से खुले 190 स्कूल, अस्थायी रूप से फिर बंद...

श्रीनगर में आज से खुले 190 स्कूल, अस्थायी रूप से फिर बंद हुई 2जी सेवा

507
SHARE

अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने से उत्पन्न हालात के मद्देनजर जम्मू में 12 दिन बाद बहाल 2जी इंटरनेट सेवाएं एक दिन बाद ही रविवार को सुबह लगभग 11 बजे बंद कर दी गईं। वहीं दूसरी ओर सोमवार से श्रीनगर के 190 प्राइमरी स्कूल खुल गए हैं।

उम्मीद है कि आगे पाबंदियों में और ढील दी जा सकती है। सरकार के प्रवक्ता तथा प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने पत्रकारों को बताया कि रविवार को 50 थाना क्षेत्रों में ढील दी गई। ढील की अवधि भी छह घंटे से बढ़ाकर आठ घंटे कर दी गई।

गौरतलब है कि जम्मू संभाग के पांच जिलों-जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर तथा रियासी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं। आईजी मुकेश सिंह ने बताया कि 2जी सेवा अस्थायी रूप से कुछ तकनीकी दिक्कतों की वजह से बंद की गई है। जल्द से जल्द सेवा को बहाल किया जाएगा। पहले बताया गया था कि यह फैसला अफ वाहों से बचने और इलाके में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए लिया गया है।

इस बीच प्रशासन ने बताया है कि घाटी में पाबंदियों में और ढील दी गई है। कुल 50 थाना क्षेत्रों में रियायत दी गई है। शनिवार को 35 थाना क्षेत्रों में छूट दी गई थी। हालांकि, पहले अधिकारियों ने बताया था कि शनिवार को हिंसा की कुछ घटनाओं के बाद रविवार को शहर के कुछ हिस्सों में पाबंदियां कड़ी कर दी गईं। जगह-जगह नाके पर अतिरिक्त सतर्कता बरती गई।

जम्मू में इंटरनेट बंद किए जाने के बाद अफवाहों का बाजार गर्म हो गया। पेट्रोल पंपों पर लंबी लाइनें लग गईं। बाजारों में अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। शाम को डीसी सुषमा चौहान तथा एसएसपी तेजिंदर सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस कर स्थिति साफ की।

उन्होंने चेताया कि अफवाहें फैलाने वाले चिह्नित किए जा रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। जम्मू संभाग के पांच जिलों में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल करने के बाद कुछ अफवाहें सोशल मीडिया पर तैरने लगीं थी। इसके बाद शनिवार की देर शाम जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने चेतावनी दी थी कि सोशल मीडिया पर फ र्जी संदेश या वीडियो प्रसारित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

घाटी के कई हिस्सों में रविवार को 14 वें दिन भी पाबंदियां जारी रहीं। अधिकारियों ने बताया कि कम से कम 12 जगहों पर प्रदर्शन हुए थे जिसमें कई प्रदर्शनकारी घायल हो गए। हालांकि घायलों की सही संख्या की जानकारी नहीं मिल सकी है।

शनिवार को 35 पुलिस थाना क्षेत्रों में पाबंदियों में ढील देने के बाद युवाओं तथा सुरक्षा बलों के बीच झड़पें हुई थीं। इसके बाद हिंसा वाले इलाकों में दोबारा पाबंदियां लगा दी गईं। दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग, कुलगाम, शोपियां तथा पुलवामा में सब कुछ सामान्य रहा। निजी वाहन सड़कों पर चलते दिखे। दुकानों पर पर्याप्त मात्रा में राशन उपलब्ध है।