Home National मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 कैसे पड़ा उल्लंघनकर्ताओं पर भारी, जानिए क्या नए...

मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 कैसे पड़ा उल्लंघनकर्ताओं पर भारी, जानिए क्या नए नियम

356
SHARE

मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019, 1 सितंबर से लागू हो गया है जिससे ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को भारी जुर्माना भुगतना पड़ रहा है। इस एक्ट को बीते महीने ही संसद से मंजूरी मिली है। इन नियमों का उद्देश्य लोगों में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने का भय भरना है क्योंकि अभी तक जुर्माने की राशि बहुत कम होती थी जिसकी वजह से लोग 100-50 रुपये थमाकर ट्रैफिक के नियमों को तोड़ना अपनी शान समझते थे। नए नियमों के मुताबिक अब ड्राइविंग के दौरान मोबाइल से बात करना, ट्रैफिक जंप करना और गलत दिशा में ड्राइव करने को खतरनाक ड्राइविंग कैटेगिरी में रखा गया है और इस पर भारी जुर्माना देना पड़ेगा।

इसके साथ ही नए कानून में नाबालिग वाहन चलाता पाया गया ताे वाहन मालिक काे दोषी माना जाएगा। वाहन मालिक को 25 हजार रुपए का जुर्माना और तीन साल की सजा होगी । इसके साथ ही वाहन का रजिस्ट्रेशन भी रद्द होगा और नाबालिग के खिलाफ किशोर न्याय एक्ट 2000 के तहत मुकदमा चलेगा। यह कानून सबसे सराहनीय है क्योंकि लोग अपने छोटे छोटे बच्चों को वाहन थमा देते हैं जिससे कईं बार बड़ी दुर्घटना हो जाती है।

वहीँ कुछ राज्यों को छोड़कर पूरे देश में मोटर व्हीकल ऐक्ट लागू हो गया है और ट्रैफिक पुलिस उल्लंघनकर्ताओं पर नज़र रखते हुए उन पर सख्ती बरत रही है। मोटर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन करना वाहन चालकों को भारी पड़ रहा है। जम्मू कश्मीर के साथ साथ कईं राज्यों में 1 सितंबर से उल्लंघनकर्ताओं को भारी जुर्माना भरना पड़ा है। कुछ ऐसा ही गुरुग्राम में हुआ जहाँ कागजात नहीं पाए जाने पर एक स्कूटी चालक का 23 हजार का चालान कर दिया गया। लेकिन यह सिर्फ एक मामला नहीं है। ऐसे लगभग कईं मामले हुए हैं, जिसने वाहन चालकों की नींद उड़ा रखी है।

ऐसे नियम इस समय लाना बहुत ज़रूरी था क्योंकि लोग ट्रैफिक के नियमों को तोड़ने में ज़रा सा भी संकोच नहीं करते। वो इसे अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझते हैं और उन्हें कभी नियमों को तोड़ने का अपराधबोध नहीं होता। हम इस खबर से यह कहने की कोशिश कर रहे हैं, कि सड़क सुरक्षा के मुद्दे पर गंभीर हो जाइए ,इससे पहले की काफी देर हो जाए।