Home Jammu Kashmir Jammu माता वैष्णो देवी भवन में ‘गोल्डन गेट’ बना श्रद्धालुओं के मुख्य आकर्षण...

माता वैष्णो देवी भवन में ‘गोल्डन गेट’ बना श्रद्धालुओं के मुख्य आकर्षण का केंद्र

348
SHARE

जम्मूः जम्मू कश्मीर के रियासी जिले में त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित विश्वप्रसिद्ध माता वैष्णो देवी भवन में गत अक्टूबर में नवरात्र के मौके पर संस्थापित ‘गोल्डन गेट’ यहां आने वाले श्रद्धालुओं का मुख्य आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। विदा लेते वर्ष 2019 में जनवरी से नवम्बर तक 11 महीनों में 73 लाख से अधिक श्रद्धालु यहां आये हैं, जिसमें सर्वाधिक संख्या मई और जून में रही। पिछले वर्ष यह आंकड़ा 84 लाख से अधिक था। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक जनवरी में 5,01,880 , फरवरी में 2,69,73 , मार्च में 4,62,369 , अप्रैल में 6,90,893 , मई में 8,07,125 , जून में 11,59,715 , जुलाई में 8,45,071 , अगस्त में 6,02,088 , सितम्बर में 6,56,167 , अक्टूबर में 7,96,087 , नवम्बर में 5,77,757 और दिसम्बर माह की 20 तारीख तक 2,83,458 श्रद्धालुओं ने माता वैष्णो देवी के दर्शन किये। वर्ष 2019 के समाप्त होने में एक सप्ताह शेष हैं तथा इस अवधि में डेढ़ लाख के करीब श्रद्धालुओं के यहां आने का अनुमान है जिससे यह संख्या 77 लाख पहुंच सकती है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गत अगस्त में जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने के बाद सितम्बर में यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में मामूली कमी हुई , लेकिन अक्टूबर में नवरात्र के दौरान यह संख्या फिर बढ़ती गयी। उन्होंने बताया कि माता वैष्णो देवी श्रइन बोर्ड प्रतिदिन की 50 से 60 हजार श्रद्धालुओं की भीड़ को संभालने में सक्षम है। उन्होंने कहा, ‘दिसम्बर के मध्य में ठंड के मौसम के कारण यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या प्रतिदन औसतन 12 से 15 हजार है , लेकिन हिमपात समाप्त होने के बाद और नववर्ष के मौके पर इसमें इजाफा होगा।’ उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष माता वैष्णो देवी भवन और भैरों घाटी के बीच शुरु किये गये रोपवे की सुविधा भी यात्रियों की संख्या बढ़ाने में सहायक रही है।

माता वैष्णो देवा मंदिर की प्राकृतिक गुफा के समीप ‘गोल्डन गेट’ की ओर भी श्रद्धालु आकर्षित हुए हैं। ‘गोल्डन गेट’ में देवी-देवताओं के चित्रों के साथ खुदा हुआ एक गुंबद, तीन सुनहरे झंडे और एक विशाल सुनहरी छत्री के अलावा माता वैष्णो देवी के महागौरी, सिद्धिदात्री, कालरात्रि और चामुंडा समेत उनके नौ अवतारों को दर्शाया गया है। केंद्रशासित जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल एवं श्री माता वैष्णो देवी श्रइन बोर्ड के अध्यक्ष गिरीश चंद्र मुमरु ने हाल ही में बोर्ड की 65वीं बैठक में सीसीटीवी कैमरों के संस्थापन पर जोर दिया था। बैठक में मौजूदा वर्ष में बोर्ड की वार्षिक हरित योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा की गयी तथा 2020-21 की योजना को मंजूरी भी दी गयी। श्रइान बोर्ड के नये मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने कहा, ‘हमने कठोर मौसम की स्थिति में नये साल के मौके पर माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है।’