Home Jammu Kashmir बुरहान वानी बरसी पर घाटी बंद का आह्वान, सुरक्षा बलों पर हमले...

बुरहान वानी बरसी पर घाटी बंद का आह्वान, सुरक्षा बलों पर हमले की आशंका से हाई अलर्ट पर सेना

478
SHARE

जम्मू कश्मीर के अलगाववादी संगठनों ने आतंकवादी बुरहान वानी की तीसरी बरसी पर रविवार 7 जुलाई को पूर्ण बंद का आह्वान किया है। इस बंद का आह्वान के संयुक्त मंच ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशीप ने किया है। अलगाववादियों के इस बंद के दौरान खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षाबलों पर हमले की आशंका जताई है।

जानकारी के अनुसार जम्मू कश्मीर के अलगाववादी संगठनों के संयुक्त मंच ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशीप (जेआरएल) ने 7 जुलाई, रविवार को घाटी में पूर्ण बंद का आह्वान किया है। जम्मू कश्मीर के अलगाववादी संगठनों के संयुक्त मंच ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशीप (जेआरएल) ने 7 जुलाई, रविवार को घाटी में पूर्ण बंद का आह्वान किया है। आतंकवादी बुरहान वानी की तीसरी बरसी पर यह बंद बुलाया गया है। अलगाववादियों के बंद के बीच खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षाबलों पर हमले की आशंका जताई है। खुफिया सूत्रों के अनुसार आतंकवादी स्नाइपर और एलईडी से हमला कर सकते हैं। ख़ुफ़िया रिपोर्ट के बाद सेना हाई अलर्ट पर है। घाटी में सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए गए हैं।

जानकारी हो कि वानी की मौत के बाद घाटी में जमकर उपद्रव करने वाले अलगाववादियों ने पिछले साल भी बंद किया था। इसके कारण अमरनाथ यात्रा पर निकले हजारों श्रद्धालुओं को रोक दिया गया था।

बता दें कि आतंकवादी बुरहान का जिक्र पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में किया था। नवाज ने बुरहान को युवा नेता कहा था, जिस पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी। नवाज के मुख से बुरहान की तारीफ सुनने के बाद बुरहान के पिता मुजफ्फर वानी ने कहा था कि ये मुझे अच्छा लगा।