Home National झारखंड में बोले पीएम- राम मंदिर, अनुच्छेद 370 मुद्दे को कांग्रेस ने...

झारखंड में बोले पीएम- राम मंदिर, अनुच्छेद 370 मुद्दे को कांग्रेस ने लटकाकर रखा

374
SHARE

झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा जी-जान से जुट गई है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डाल्टनगंज में एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि झारखंड की धरती और उसमे भी पलामू भाजपा के लिए एक मजबूत किला रहा है। आज अगर पूरे भारत में कमल शान से खिला है तो इसमें बहुत बड़ी भूमिका यहां की जनता की है। यहां का आदिवासी समाज, पिछड़े, दलित, व्यापारी सभी वर्ग के लोग कमल के साथ खड़े रहे हैं।
राम मंदिर का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भगवान राम की जन्मभूमि, अयोध्या का विवाद भी इन लोगों ने दशकों से लटकाया हुआ था। कांग्रेस अगर चाहती तो उसका समाधान निकाल सकती थी। कांग्रेस ने ऐसा किया नहीं, कांग्रेस ने अपने वोटबैंक की परवाह की। कांग्रेस की इस सोच से देश-समाज का नुकसान हुआ। भाजपा कोई संकल्प लेती है, तो उसे सिद्ध करती है। गरीब-आदिवासी-पिछड़े, देश के लिए जीने वाले एक-एक व्यक्ति की मान-मर्यादा और सामाजिक न्याय, भाजपा की प्राथमिकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘तीन दिन पूर्व लातेहार में शहीद हुए पुलिस के जवानों को मैं श्रद्धांजलि देता हूं। उनके परिवारजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। आज अगर पूरे भारत में कमल शान से खिला है तो इसमें बहुत बड़ी भूमिका यहां की जनता, भाजपा कार्यकर्ता और आप सबका आशीर्वाद की है। आज यहां जो जनसैलाब उमड़ा है, चारों तरफ उत्साह और उमंग से भरे हुए नागरिक नजर आ रहे हैं, उसने इस बार के विधानसभा चुनाव का नतीजा भी स्पष्ट कर दिया है।’

उन्होंने कहा, ‘भाजपा की अगुवाई में एक स्थिर और मजबूत सरकार का दोबारा बनना यहां बहुत जरूरी है। क्योंकि झारखंड युवावस्था में है, अभी राज्य को जो दिशा मिलेगी, उसका झारखण्ड के भविष्य पर बहुत प्रभाव पड़ेगा। यहां का जनजातीय समुदाय, यहां के पिछड़े, दलित, वंचित, व्यापारी, कारोबारी, हर वर्ग कमल के निशान के साथ खड़ा रहा है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘बीते पांच सालों में यहां की भाजपा सरकार ने नए झारखंड के लिए सामाजिक न्याय के पांच सूत्रों पर काम किया है। पहला सूत्र है- स्थिरता, दूसरा सूत्र है- सुशासन, तीसरा सूत्र है- समृद्धि, चौथा सूत्र है- सम्मान और पांचवां सूत्र है- सुरक्षा। भाजपा ने झारखंड को स्थिर सरकार दी है। भाजपा ने झारखंड में भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए दिन-रात काम किया है और पारदर्शी व्यवस्थाएं बनाई हैं। भाजपा ने झारखंड में समृद्धि का मार्ग खोला है।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भाजपा ने झारखंड के हर समाज के व्यक्ति को सम्मान से जीने का हक दिलाया है, उसका गौरव बढ़ाया है। भाजपा ने झारखंड को नक्सलवाद और अपराध से मुक्ति दिलाने के लिए, भयमुक्त वातावरण के लिए प्रयास किया है। झारखंड में नक्सलवाद की ये समस्या इसलिए भी बेकाबू हुई क्योंकि यहां राजनीतिक अस्थिरता थी। यहां सरकारें पिछले दरवाजे से बनती और बिगाड़ी जाती थीं। क्योंकि उनके मूल में स्वार्थ और भ्रष्टाचार होता था।’

विपक्ष पर निशाना साधते हुए पधानमंत्री ने कहा कि इन स्वार्थी लोगों में झारखंड की सेवा करने के लिए कोई भावना नहीं है। इन स्वार्थी लोगों के गठबंधन का एकमात्र एजेंडा सत्ताभोग और झारखण्ड के संसाधनों का दुरुपयोग है। इसलिए ये एक बार फिर आपको भ्रमित कर आपसे वोट मांग रहे हैं। अस्थिरता का लाभ ऐसे लोगों ने उठाया जिनकी दुकान हिंसा पर चलती थी। यही उद्योग यहां खूब फला-फूला। इस स्थिति को काफी हद तक बदलने में केंद्र की और झारखंड की भाजपा सरकार ने सफलता पाई है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जल, जमीन और जंगल की सुरक्षा पर भाजपा आंच नहीं आने देगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के ईमानदार प्रयासों से ही आज झारखंड के गांव-गांव में सड़कें और बिजली पहुंच रही है। बदलते हुए हालात में अब यहां रोजगार के नए साधन तैयार हो रहे हैं। यहां से जो बॉक्साइट निकल रहा है, उसका बड़ा हिस्सा यहीं के विकास में लगे, इसका भी प्रावधान पहली बार भाजपा की सरकार ने ही किया है। विरोधी हताशा में कुछ भी कहें, लेकिन आपके जल, जमीन और जंगल की सुरक्षा और आपके हितों पर भाजपा कोई आंच नहीं आने देगी।