Home Jammu Kashmir Kashmir गणतंत्र दिवस: इन वीरों को मिला शौर्य चक्र, जम्मू-कश्मीर पुलिस को सबसे...

गणतंत्र दिवस: इन वीरों को मिला शौर्य चक्र, जम्मू-कश्मीर पुलिस को सबसे अधिक वीरता पदक

472
SHARE

पूरे देश में रविवार को 71वें गणतंत्र दिवस का समारोह धूमधाम से मनाया जाएगा। इस मौके पर आतंकियों का डटकर सामना करने वाले वीर जवानों को सम्मानित किया जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति लामा, मेजर केबी सिंह, सूबेदार एन सिंह, नाइक एस कुमार और सिपाही के ओराण को शौर्य चक्र से सम्मानित करेंगे।
राष्ट्रपति जम्मू कश्मीर में विदेशी आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए सूबेदार सोमबीर को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित करेंगे। सिपाही ओराण को यह सम्मान नियंत्रण रेखा पर अभियान के लिए मिलेगा। जिसमें उनकी बुलेटप्रूफ पटका पर एक गोली लगी था। इसके बाद उन्होंने नौ ग्रेनेड दागे और चार आतंकवादियों के हमले को विफल करते हुए दो आतंकियों को मार गिराया था।

लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति लामा को शौर्य चक्र पिछले साल जुलाई में मणिपुर में एक अभियान के दौरान दो आतंकियों को मार गिराने के लिए दिया जाएगा। उन्हें अपने ऑपरेशन वाले क्षेत्र में चौदह कट्टर आतंकवादियों को पकड़ने का भी श्रेय जाता है।

पैराशूट रेजीमेंट (विशेष बल) के नायब सूबेदार नरेंद्र सिंह को नियंत्रण रेखा पर एक ऑपरेशन के लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। जहां उन्होंने दो आतंकवादियों को मार गिराया और एक को घायल कर दिया था। आतंकवादी वहां भारतीय सेना के ठिकानों पर हमला करने की योजना बना रहे थे।

जम्मू कश्मीर पुलिस को सबसे अधिक 108 वीरता पदक, सीआरपीएफ को 76 पदक
गणतंत्र दिवस के अवसर पर 108 पदकों के साथ जम्मू कश्मीर पुलिस को सबसे अधिक वीरता पदक प्रदान किए गए हैं और इसके बाद सीआरपीएफ को 76 पदक मिले हैं। यह जानकारी शनिवार को जारी एक आदेश में दी गई। केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि केंद्रशासित पुलिस कश्मीर घाटी में आतंकवाद रोधी अभियानों में निरंतर शामिल रही है, जिसे तीन शीर्ष राष्ट्रपति पुलिस पदक (पीपीएमजी) भी मिले हैं, जबकि सीआरपीएफ को एक राष्ट्रपति पुलिस पदक (मरणोपरांत) मिला है।

जम्मू कश्मीर पुलिस को वीरता के लिए 105 पुलिस पदक (पीएमजी) और तीन पीपीएमजी दिए गए हैं। इसके बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को 75 पीएमजी मिले हैं। इसे एक पीपीएमजी (मरणोपरांत) मिला है। केंद्रशासित क्षेत्र में आतंकवाद रोधी ड्यूटी में सीआरपीएफ भी तैनात है। झारखंड पुलिस को 33 पीएमजी दिए गए हैं। इन पदकों की घोषणा साल में दो बार गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है।