Home National कश्मीर को लेकर दिल्ली में बढ़ी हलचल, संसद में अमित शाह और...

कश्मीर को लेकर दिल्ली में बढ़ी हलचल, संसद में अमित शाह और डोभाल के बीच हुई बैठक

453
SHARE

जम्मू-कश्मीर में बढ़ी हलचल के बीच रविवार को संसद भवन में गृह मंत्रालय की उच्चस्तरीय बैठक हुई। गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और गृह सचिव राजीव गाबा भी मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि ये बैठक करीब दो घंटे चली।
कैबिनेट की बैठक
उधर, प्रधानमंत्री मोदी की कैबिनेट की सोमवार को अचानक बैठक होने वाली है। इसे लेकर खास बात ये है कि मोदी कैबिनेट की बैठक आमतौर पर बुधवार को होती है। लेकिन इस बार सोमवार को बैठक होने जा रही है। ये बैठक सुबह साढ़े नौ बजे बुलाई गई है, इसमें क्या फैसला होगा इस बात का सभी को इंतजार है। मीडिया रिपोर्टस में हालांकि ये बात कही जा रही है कि कल होने वाली बैठक में संसद सत्र को दो दिनों के लिए और बढ़ाने पर विचार हो सकता है। इस बैठक से पहले रविवार शाम सात बजे भाजपा के महासचिवों की बैठक भी बुलाई गई है।
अमित शाह का कश्मीर दौरा
गृह मंत्री अमित शाह के कश्मीर दौरे की खबर भी आ रही है। कहा जा रहा है कि वह संसद सत्र के खत्म होते ही तीन दिन के कश्मीर दौरे पर जाएंगे। संसद का सत्र सात अगस्त तक चलेगा। यानी उनका दौरा आठ से दस अगस्त तक हो सकता है। सूत्रों का कहना है कि उनका ये दौरा जम्मू-कश्मीर में भाजपा के सदस्यता अभियान और राज्य में विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर हो रहा है।
राज्यसभा में पेश होगा बिल
अमित शाह सोमवार को राज्यसभा में जम्मू कश्मीर (दूसरा संशोधन) आरक्षण बिल, 2019 पेश करेंगे। इस बिल में जम्मू और कश्मीर में दस फीसीद आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) कोटे को लागू करने की बात की गई है।
आतंकियों की कोशिश
इस वक्त कश्मीर का माहौल तनावग्रस्त है। सुरक्षा बलों को अमरनाथ यात्रा के रास्ते पर तलाशी अभियान में स्नाइपर राइफल मिलीं, जिसके बाद से यात्रा को रोकना का आदेश जारी हुआ। आतंकी खतरे के इनपुट के आधार पर एडवाइजरी जारी कर कहा गया कि अमरनाथ यात्री जिस भी मार्ग पर हैं, तुरंत अपने-अपने घर लौटने की कोशिश करें।
इससे पहले शनिवार को भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी बैट (बॉर्डर एक्शन टीम) की केरन सेक्टर में घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया था। भारतीय सेना के मुताबिक पांच से सात पाकिस्तानी सेना के बैट कमांडो और आतंकियों को मार दिया गया है। जिनके शव एलओसी पर पड़े हैं।
अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात
जम्मू कश्मीर में बड़ी संख्या में अतिरिक्त अर्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है। साथ ही एक के बाद एक एजवाइजरी जारी होने के बाद असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इस बीच कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 और धारा 35ए को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। साथ ही जम्मू-कश्मीर राज्य को जम्मू, कश्मीर और लद्दाख, कुल तीन भागों में विभक्त करने की भी अनौपचारिक चर्चा हवाओं में गूंज रही है।