Home Jammu Kashmir कश्मीर के दो युवाओं ने दिया अहम संदेश , भटके हुए युवाओं...

कश्मीर के दो युवाओं ने दिया अहम संदेश , भटके हुए युवाओं से की मुख्यधारा में लौटने की अपील

596
SHARE

धरती का स्वर्ग कहलाने वाला कश्मीर पर मौजूदा समय में आतंक का साया है। पिछले कई सालों से कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का सबसे बड़ा हाथ रहा है। हालांकि, कश्मीर के कुछ ऐसे नेता भी हैं जो भोले-भाले युवाओं को गुमराह कर आतंक के रास्ते पर धकेलते हुए उनका जीवन नर्क बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसे में इन युवाओं के परिजन भी उनकी इस बड़ी गलती के गुनहगार बन जाते हैं। भारतीय सेना समय-समय पर कई कार्यक्रमों के माध्यम से इन भटके हुए युवाओं को मुख्यधारा में लाने के लिए प्रयास करती आ रही है क्योंकि उनके लिए देश का हर युवा अहम है। चाहे वो धरती की जन्नत कहे जाने वाले कश्मीर से हो या फिर देश के किसी अन्य हिस्से से।

कश्मीर और कश्मीर के लोगों को लेकर हमारी यही सोच बनी हुई है कि वहां के लोग आतंक और पत्थरबाजी को बढ़ावा देते हैं। लेकिन इसी कश्मीर में कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनकी सोच इन सब से अलग है। कश्मीर के ज़िला अनंतनाग के दो युवक रियाज़ और मुख्तार ऐसे ही युवाओं में शुमार हैं। ये दोनों पेशे से मजदूर हैं और मजदूरी कर अपने घर का गुजर-बसर करते हैं। हमारे संवाददाता से बातचीत के दौरान उन्होंने एक ऐसा संदेश दिया जिससे कश्मीर के अन्य युवाओं को भी सीख लेनी चाहिए। इनका कहना है कि मेहनत करनी चाहिए क्योंकि मेहनत से ही घर का गुजारा चलेगा और किसी की बातों में नहीं आना चाहिए। ऐसे में यह संदेश उन युवाओं के लिए काफी अहम है जोकि मेहनत करने के बजाए पत्थरबाज़ी और आतंकवाद को ही अपना धर्म समझते हैं। ऐसे युवाओं को अपने भविष्य की फिक्र नहीं होती और उनकी एक गलती से हंसते-खेलते परिवार भी बर्बाद हो जाते हैं।