Home Jammu Kashmir आठ महीनों में सेना ने 139 आतंकवादी मार गिराए, आतंकवाद संबंधी अभियानों...

आठ महीनों में सेना ने 139 आतंकवादी मार गिराए, आतंकवाद संबंधी अभियानों में 26 जवान हुए हैं शहीद

303
SHARE

इस साल के पहले आठ महीनों में सेना ने देश के खिलाफ बंदूक उठाने वाले 139 आतंकवादी मार गिराए हैं। रक्षा सूत्रों के अनुसार इस संख्या में एलओसी के साथ-साथ राज्य के भीतरी इलाकों में सेना के साथ विभिन्न मुठभेड़ों में मारे गए आतंकवादियों की संख्या भी शामिल है। इन आतंकियों का खात्मा सेना ने एक जनवरी से 29 अगस्त के बीच किया है। इसी अवधि के दौरान घाटी में आतंकवाद संबंधी अभियानों में विभिन्न रैंकों से जुड़े 26 जवानों ने भी शहादत पाई है। साल के पहले आठ महीनों के दौरान सबसे अधिक आठ जवान फरवरी में शहीद हुए। अगस्त के महीने में एक अभियान के दौरान सेना द्वारा पांच आतंकवादियों को मार गिराया गया था, जबकि एक को गिरफ्तार कर लिया गया था। जहां तक आतंकवादियों के खात्मे का सवाल है तो मई महीने में सुरक्षाबलों ने सबसे अधिक आतंकियों का खात्मा किया है। मई महीने में सुरक्षाबलों ने 27 आतंकवादियों को मार गिराया था, जो कि 2019 में किसी भी महीने के मुकाबले सबसे ज़्यादा हैं। जम्मू-कश्मीर में अगस्त महीने में सबसे अधिक यानी 22 आतंकी घटनाएं दर्ज की गईं थीं। जनवरी से अगस्त तक राज्य में कुल 87 आतंकवादी घटनाएं दर्ज की गईं। जुलाई के अंतिम सप्ताह में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम यानी बैट के प्रयास को भी सेना ने सफलतापूर्वक नाकाम कर दिया। सेना के जवानों ने नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की कोशिश कर रहे चार से अधिक बैट कमांडो को मार गिराया।

पाकिस्तान ने इस साल आतंकवादियों को घुसपैठ कराने की ज्यादा कोशिशें की हैं, विशेष रूप से अनुच्छेद 370 के हटने के बाद पाकिस्तान द्वारा घुसपैठ के कई प्रयास किए गए। यह इस साल पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन की संख्या से स्पष्ट है। पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 हटने के बाद नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन के 223 मामले सामने आए हैं। संघर्ष विराम उल्लंघन के सबसे ज्यादा 196 मामले जुलाई में दर्ज किए गए थे।

पाकिस्तान की बौखलाहट का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस साल के पहले आठ महीनों में उसने 1 हज़ार 889 बार सीमाओं पर भारी गोलाबरी की। जबकि 2018 में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर 1 हज़ार 629 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया था।